cbse-marking-scheme

नई दिल्ली : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने इस वर्ष से कक्षा 10 और कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षा के पैटर्न में महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। अब हर विषय के पेपर में 1 नंबर वाले 25 फीसदी बहुविकल्पीय (Optional) प्रश्न होंगे. सोमवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि CBSE ने छात्रों की गहन सोच और तर्क क्षमता को बढ़ाने के लिए 2019-20 सत्र से 10वीं और 12वीं कक्षा के पैटर्न में बदलाव किए हैं। उन्होंने बताया कि सभी विषयों में ऑब्जेक्टिव प्रश्न करीब 25 प्रतिशत होंगे। वहीं जिन विषयों में प्रैक्टिकल परीक्षा नहीं होगी उन विषयों में 20 फीसदी अंकों के लिए इंटरनल एसेसमेंट होगा। रमेश पोखरियाल ने लोकसभा में सांसद केशरी देव पटेल और चिराग पासवान द्वारा उठाए गए सवाल के जवाब में ये महत्वपूर्ण जानकारी दी। रमेश पोखरियाल ने बताया कि प्रश्नपत्र में 20 फीसदी सवालों को बहुविकल्पीय और 10 फीसदी को रचनात्मक बनाया जाएगा. सभी सवालों के 33 फीसदी हिस्से में छात्रों को इं‍टरनल ऑप्शन मिलेगा। जिन विषयों में प्रैक्टिकल नहीं होते हैं, उनमें इस बार से इंटरनल असेसमेंट लिया जाएगा। ये इंटरनल असेसमेंट 20 अंकों का होगा। सीबीएसई ने इस बार मार्किंग स्कीम में बदलाव किया है। सीबीएसई बोर्ड अब क्रिएटिव और रिलेवेंट आंसरस को ज्यादा महत्व देगा।

यह भी पढ़ें:

NEET 2020 परीक्षा का रजिस्ट्रेशन आज से, NTA ने जारी किया नोटिफिकेशन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here