nit-sumadi-uttarakhand

देहरादून: नई दिल्ली के शास्त्री भवन में सोमवार को मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ से श्रीनगर एनआईटी को लेकर प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत एवं सांसद तीरथ रावत ने मुलाकात की. इस दौरान विभिन्न बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा के बाद तय किया गया कि एनआईटी का स्थाई कैंपस सुमाड़ी में ही बनाया जाएगा। सिंतबर माह तक इसका शिलान्यास कर दिया जाएगा। वहीं इस वर्ष से एडमिशन श्रीनगर में ही होंगे। जल्द जयपुर शिफ्ट हुए छात्र-छात्राओं को वापस श्रीनगर बुलाया जाएगा।
केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने आश्वासन दिया है कि उत्तराखंड के राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी) का स्थाई कैंपस सुमाडी में ही बनेगा। डॉ. निशंक ने सोमवार को नई दिल्ली में आयोजित मानव संसाधन विकास मंत्रालय की बैठक में प्रदेश के उच्चा शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत और सांसद तीरथ रावत से मुलाकात के दौरान बताया कि सितंबर महीने में इसका शिलान्यास भी कर दिया जाएगा। बैठक में उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत, सांसद पौड़ी तीरथ सिंह रावत, अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश आदि मौजूद रहे। इसके बाद एनआईटी को लेकर पिछले लम्बे समय से बनी असमंजस की स्थिति पर विराम लग गया है।
एनआईटी कैंपस के लिए 309 एकड़ में से 203 एकड़ भूमि को उपयुक्त पाया गया है। उसी स्थान पर स्थाई परिसर का निर्माण किया जाएगा।
बता दें कि एनआईटी को लेकर उत्तराखंड हाईकोर्ट ने भी प्रदेश सरकार को फटकार लगाई थी कि कैसी प्रदेश सरकार है जो राष्ट्रीय स्तर के संस्थान को प्रदेश से बाहर जाने से नहीं रोक पा रही है।

यह भी पढ़ें:

श्रीनगर एनआईटी शिफ्टिंग मामले में हाईकोर्ट ने राज्य के मुख्य सचिव को जारी किया अवमानना नोटिस

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here