hrd-minister-nishank

श्रीनगर गढ़वाल: श्रीनगर में प्रस्तावित एनआईटी के लिए संघर्षरत समाजसेवी मोहन काला ने अपने गांव सुमाड़ी वासियों के साथ एक बैठक की है। इस मौके पर मोहन काला ने गाँव वासियों को बताया कि उन्होंने हाल ही में एनआईटी को सुमाड़ी में ही स्थापित कराने के लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकत कर गढ़वाल श्रीनगर में प्रस्तावित एनआईटी के जल्द से जल्द निर्माण के लिए सहयोग देने की अपील की है।

मोहन काला ने कहा बताया कि डॉक्टर निशंक से उनकी यह मुलाकात बहुत सकारात्मक रही है। डॉक्टर निशंक के एनआईटी औल विश्व विद्यालय के मसलों को जल्द से जल्द सुलाझाने का भरोस दिया है। एनआईटी सुमाडी के लिए डिटेल में स्टडी हो रही है और डीपीआर लगभग बन गयी है और निर्माण का कार्य की प्रक्रिया भी जल्दी शुरू की जाएगी।

मोहन काला ने बताया कि एचआरडी मिनिस्टर का कहना था कि एनआईटी की ज़मीन का सर्वे और एनआईटी की ज़मीन उन्हीं के शासनकाल (जब वह मुख्यमंत्री थे) में शुरुआत की गयी थी। इसलिए मैं कोशिश करूंगा की इसका निर्माण कार्य जल्दी हो और उनके कार्यकाल में ही निर्माण कार्य पूर्ण भी हो जाए.

मोहन काला ने गाँव वालों को अवगत कराने के बाद प्रस्ताव रखा कि अगर एनआईटी के लिए और अधिक जमीन की आवश्यकता होगी तो गांव वाले प्राइमरी कन्या विद्यालय और इंटर कॉलेज की जगह जो लगभग 100 एकड़ है, वह भी क्या गांव वाले दान देने को तैयार हैं?  गाँव वालों ने समाजसेवी मोहन काला के इस प्रस्ताव सहर्ष स्वीकार किया। सुमाड़ी निवासियों का कहना हैं कि हम राज्य सरकार से प्रार्थना करते हैं कि उन्हें किसी अन्य स्थान पर स्कूल और कॉलेज बना कर दिया जाए और कॉलेज और स्कूल की जगह को एनआईटी का निर्माण जल्द से जल्द शुरू किया जाए। ताकि हमारे पहाड़ का विकास हो, हमारे बच्चों को रोजगार मिले और पहाड़ से पलायन रूके. इसके लिए हम सरकार को अपनी अतिरिक्त जमीन भी देने को तैयार है। समाजसेवी मोहन काला द्वार सुमाड़ी में एनआईटी के निर्माण के लिए किए जा रहे प्रयासों के लिए पूरे सुमाड़ी गांव के लोगों ने उनका आभार व्यक्त किया।

यह भी पढ़ें:

एनआईटी श्रीनगर का कैंपस नहीं बदला जाएगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here