kavi-sammelan-srinagar-garh

श्रीनगर गढ़वाल: राजकीय इंटर कॉलेज मरखोड़ा विकास खण्ड खिर्सू में शनिवार को मिशन कोशिश के तहत कविताओं का कारवां कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसका उद्देश्य छात्रों में भाषा कौशल को विकसित करने के साथ-साथ उन्हें भविष्य के लिए एक बेहतर मंच प्रदान करना था।

आयोजन की अध्यक्षता कक्षा 12 की छात्रा कुमारी मीनाक्षी बहुगुणा एवं संचालन कुमारी मोनिका एवं कुमारी स्वाधीनता ने किया। आयोजन में जहाँ छात्र छात्राओं ने कुछ अपनी और कुछ ख्यातिप्राप्त कवियों की कविताओं का पाठ किया, वही अध्यापक अध्यापिकाओ ने भी स्वरचित कविताओं से आयोजन को सफल बनाया।

प्रभारी प्रधानाचार्य प्रवेश चमोली ने जहां इस आयोजन की भूरि भूरि प्रशंसा की। वहीं आयोजक संयोजक महेश गिरि ने भविष्य में भी छात्रों के व्यक्तित्व विकास के लिए इस तरह के कार्यक्रमों को अविरल रूप से करने का संकल्प लिया।

  अध्यापिकाओ द्वारा स्वरचित कविताएँ

श्रीमती बबिता भूषण (प्रवक्ता अर्थशास्त्र) द्वारा पर्यावरण पर आधारित

वर्षा रानी अब मत बरसों

चारों ओर है बादल

अब मत गरजो

श्रीमती अरूणा नौटियाल (एलटी विज्ञान) पलायन पर

पूछती है मेरी माटी

कब तक परदेश में रहोगे

अपने घर को छोड़कर

कब तक बाहर बसोगे

श्रीमती रेखा संगवान (एलटी हिंदी)

जीवन कभी सुना न हो

कुछ मै कहूँ कुछ तुम कहो

तुमने मुझको अपना लिया

ये तो अच्छा किया

 विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत कविताएँ

कुमारी मीनाक्षी बहुगुणा कक्षा 12

दबे पांव की थी आहट कोई

आधी रात में थी जब नन्ही जान सोई

सुनकर उस आहट को नन्ही जान घबराई

सहम कर वो कुछ बोल न पाई

हिमांशु पंवार कक्षा 10

पलायन रोकने के लिए कोई क्या करे

एक दिन मै बैठा था

पर्वतों के शिखर पर

दिख रहे थे वहाँ से

जो न दिखता मैदानों पर

कुमारी मोनिका कक्षा 10

सबसे अच्छी है माँ सबसे प्यारी है माँ

नौ महीने तक रखा हमको गर्भ में

कुमारी स्वाधीनता कक्षा 8

कोशिश करने वालो की हार नही होती

लहरों से डरकर नौका पार नही होती

कुमारी सुरमा कक्षा 8

पापा कहते बनो डाक्टर

माँ कहती इंजीनियर

भैया कहते इससे अच्छा

सीखो तुम कम्प्यूटर

कुमारी पायल कक्षा 6

माँ मुझको पढना है

देश को आगे करना है

मर जाऊगी मिट जाऊंगी

देश को आगे कर जाऊगी

सुमित पंवार कक्षा 7

खड़े खड़े मुस्कराते पेड़

कहि न आते जाते पेड़

जंगल हो या तडक भड़क हो

पर्वत खाटि खुली सड़क हो

मोहित कुमार कक्षा 12

मोहित कुमार कक्षा 12 ने गढकवि मुरली दीवान की कविता मंगतू की परीक्षा से सबसे ज्यादा वाह वाही लूटी।

वही महेश गिरि द्वारा गढकवि देवेन्द्र उनियाल की लोकप्रिय कविता

कन होंदि ब्वे

नौना पर जब चोट लगदि

नौना दगडि रोन्दि ब्वे

कैलाश पुण्डीर (प्रवक्ता राजनीति विज्ञान

कैलाश पुण्डीर (प्रवक्ता राजनीति विज्ञान ने मी कवि नी छौ की स्टाइल में बगौट जी की कविता सुनाकर लौटपोट किया।

अन्य बाल कवि जिन्होंने कविता पाठ किया उनमे निखिल कुमार, आयुष पंवार, कुमारी काजल, करन सिंह, कुमारी मेघा आदि रहे।

आयोजन के दूसरे सत्र में सुंधाशू कक्षा 9 जिन्होंने इस वर्ष राष्ट्रीय साधन सह योग्यता छात्रवृत्ति परीक्षा (NMMSS) परीक्षा सफलता पूर्वक उत्तीर्ण की, उन्हें सम्मानित किया गया। ये भी बताते चलें कि पिछले साल इसी विद्यालय के हिमांशु पंवार ने जिले में सांतवा स्थान प्राप्त किया था। सुधाशू अपने संघर्ष से आगे बढ़ रहा है कुछ वर्षों पूर्व उसने अपने माता पिता को खोया है और अभी अपने मामा के यहाँ उज्जलपुर में रहकर शिक्षा ग्रहण कर रहा है।

इस अवसर पर प्रधानाचार्य प्रवेश चमोली, कैलाश पुण्डीर, बबिता भूषण, अरुणा नौटियाल, महेश गिरि रेखा संगवान, देवेन्द्र रावत, दुर्गेश शर्मा, जय प्रकाश डिमरी, रमा चमोली, कर्ण सिंह मेवाड़, सुनील बहुगुणा आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here