leopard-killed-woman-in-rudrprayag

रुद्रप्रयाग : उत्तराखंड में इन मैदान से लेकर पहाड़ तक जंगली जानवरों का आतंक छाया हुआ है। खासकर पहाड़ों में आदमखोर तेंदुओं की दहशत फैली हुई है। पौड़ी गढ़वाल में ही तेंदुए द्वारा इंसानों को मरने की कई घटनाएं हो चुकी हैं। अब रुद्रप्रयाग जनपद के भरदार क्षेत्र में आदमखोर तेंदुए द्वारा इंसानों को मारे जाने की लगातार एक के बाद एक घटनाएँ घाट चुकी हैं।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक रुद्रप्रयाग जिले के भरदार क्षेत्र के बांसी गांव में शुक्रवार सुबह करीब घास लेने गई एक महिला को तेंदुए ने अपना निवाला बना डाला। सूचना के मुताबिक सुरकंडा तोक के जंगल में घास लेने जा रही महिलाओं के झुंड पर तेंदुए ने अचानक हमला कर दिया। और 35 वर्षीय महिला सुधा देवी पत्नी भगत सिंह को झपटकर घसीटते हुए करीब आधा किमी दूर ले गया। महिलाओं की चीखपुकार सुनकर जबतक ग्रामीण घटनास्थल पर पहुंचे तक तक तेंदुआ महिला को मारकर खाने लगा था। बड़ी संख्या में पहुंचे ग्रामीणों द्वारा शोर मचाने पर तेंदुआ महिला के शव को छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। इससे पहले भी तीन दिन पूर्व इलाके के सतनी गांव के एक अधेड़ व्यक्ति को तेंदुए ने अपना निवाला बनाया था।

तीन दिन में नरभक्षी तेंदुए द्वारा 2 लोगों का शिकार करने की घटना से आक्रोशित क्षेत्र के ग्रामीणों ने वन विभाग के अधिकारियों से आदमखोर तेंदुए को मारने की मांग करते हुए शव को उठाने से मना कर दिया है। ग्रामीणों की मांग है कि जबतक तेंदुए को मारा नहीं जाएगा वे लोग घटनास्थल पर ही रहेंगे। उधर वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि तेंदुए को पकड़ने के लिए पिंजड़े लगा दिए हैं। साथ ही आदमखोर तेंदुए को मारने के लिए शूटर बुला लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here