khairaling-mahadev

सतपुली : पौड़ी गढ़वाल के कल्जीखाल ब्लॉक के अन्तर्गत आगामी 6-7 जून को होने वाले पौराणिक खैरालिंग (मुंडनेश्वर) मेले को लेकर मंदिर समिति ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। मेले की तैयारियों को लेकर रविवार को “खैरालिंग मुंडनेश्वर महादेव मंदिर समिति” द्वारा एक बैठक का आयोजन किया गया। समिति के अध्यक्ष बलवन्त सिंह नेगी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में मेले को नए स्वरुप में आयोजित करने के लिए पहल की गयी। बैठक में निर्णय लिया गया कि इस वर्ष मेले में लगने वाली दुकानों व स्टालों को समिति व्यवस्थित रुप से लगाएगी जिसके लिए समिति मूल्य निर्धारण करेगी। मंदिर परिसर के दुकानदारो की पूरी जिम्मेदारी मन्दिर समिति की होगी। इसके अलावा समिति इस साल मेले के दौरान लोक सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने पर विचार कर रही है। इसके लिए समिति द्वारा संस्कृति मंत्रालय (उत्तराखंड सरकार) से बात की जाएगी। हालाँकि कि इन सभी बिन्दुओं को लेकर समिति की अगली बैठक 28 मई को आयोजित होनी है।

khairaling-mahadev

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ वर्षों से खैरालिंग मेले में पशुबलि बंद कर दी गई है और तभी से मेले के आयोजन की तिथि प्रत्येक वर्ष की 6 और 7 जून को सुनिश्चित कर दी गई है। इससे पहले जब तक खैरालिंग मेले में बलि प्रथा जारी थी, तब मंदिर के पुजारी एंव मेला समिति द्वारा शुभ मुहूर्त देखकर मेले का दिन निकाला जाता था जो कि 1 जून से 12 जून के मध्य किन्हीं दो दिन होता था।

कार्यक्रम का संचालन गणेश खुगशाल गणी ने किया। इस अवसर पर कोषाध्यक्ष मंगतराम उनियाल,  शेखरानंद,  विरेन्द्र असवाल,  मनीष खुगशाल स्वतंत्र,  तुलसी सिंह,  विकास भट्ट, सतेन्द्र, संजय कुमार सहित कई स्थानीय लोग उपस्थित रहे। बैठक के अंत में पांच माह पूर्व देहान्त हुए समिति के सचिव व मार्गदर्शक स्व० वीरेन्द्र गढ़देशी को श्रन्धांजलि देते हुए मौन रखकर सभा का समापन किया।

देवभूमि संवाद के लिए मनीष खुगशाल स्वतंत्र की रिपोर्ट

यह भी पढ़ें:

मां भुवनेश्वरी मंदिर, बिलखेत में “हमारा तीर्थ हमारा गांव” के तहत दो दिवसीय कृषक प्रशिक्षण कार्यक्रम

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here