चमोली में बादल फटने से तबाही

चमोली: उत्तराखंड के चमोली जिले के घाट क्षेत्र में बादल फटने से तबाही मच गई है। देर रात से हो रही मूसलाधार बारिश और बादल फटने से हुए भूस्खलन की चपेट में आने से बांजबगड़ गांव में आवासीय मकान मलबे में दब गया है। इस हादसे में घर के अंदर सो रही 35 वर्षीय महिला रूपा देवी और उसकी 9 महीने की बेटी की मलबे में दबने से मौत हो गई है। वहीँ आली गांव में भी भूस्खलन से नेनू राम का मकान दब गया। जिसमे नेनू राम की 21 वर्षीय बेटी नौरती की भी मलबे में दबने से मौत हो गई है।

स्थानीय लोग व आपदा प्रबंधन टीम मौके पर रेस्क्यू आपरेशन चला रही है। जिला आपदा कंट्रोल रूम के अनुसार, तड़के बांजबगड़ गांव में वज्रपात हुआ है। वहीँ इलाके का बरसाती नाला (चुफला गदेरा) भी उफान पर हैं जिस कारण दो मकान व तीन दुकाने बह गई हैं। मौसम विभाग ने राज्य के सात जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। राज्य मौसम केंद्र ने जिला प्रशासन को जरूरी कदम उठाने की सलाह दी है। मौसम विभाग ने तीन दिनों तक सात जिलों चमोली, रुद्रप्रयाग, पौड़ी, पिथौरागढ, बागेश्वर, नैनीताल और देहरादून में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। इस अवधि में पर्वतीय क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर भूस्खलन की और मैदानी इलाकों में बाढ़ की संभावना बन सकती है। मौसम विभाग ने पर्वतीय इलाकों में यात्रा करने वालों को सतर्क रहने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here