farmer-vidyadutt-sharma

हल्द्वानी : उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय द्वारा पौड़ी गढ़वाल के बुजुर्ग किसान पंडित विद्यादत्त शर्मा उनियाल को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया। मंगलवार को उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय हल्द्वानी में आयोजित पंचम दीक्षांत समारोह में प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती बेवीरानी मौर्य एवं उच्चशिक्षा मंत्री डॉ. धनसिंह रावत ने संयुक्त रूप से श्रम-साधक कृषि पंडित विद्यादत्त शर्मा उनियाल को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया। बतादें कि उत्तराखंड के पौड़ी जनपद के एक छोटे से गाँव सांगुड़ा के 83 वर्षीय बुजुर्ग किसान पंडित विद्यादत्त शर्मा उनियाल के संघर्ष पर बनी डाक्यूमेंट्री फ़िल्म “मोतीबाग” को ऑस्कर अवार्ड 2019 के लिए नामित किया जा चुका है।

इस दौरान पंडित विद्यादत्त के अलावा पद्मश्री लवराज सिंह धर्मशक्तु को भी डीलिट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर 22 हजार 649 विद्यार्थियों को स्नातक व परास्नातक डिग्री, डिप्लोमा व प्रमाणपत्र प्रदान किए गए। जबकि 11 शोध छात्रों को पीएचडी की उपाधि प्रदान की गई। 48 मेधावी विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल दिए गए।

इससे पहले पांचवे दीक्षांत समारोह का शुभारंभ राज्यपाल एवं कुलाधिपति बेबी रानी मौर्य, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत तथा कुलपति प्रो. ओम प्रकाश सिंह नेगी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस अवसर पर राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि यह जानकर खुशी हुई है कि मुक्त विश्वविद्यालय में लगभग 69 हजार से अधिक विद्यार्थी अध्ययन कर रहे हैं। इनमें से 30 प्रतिशत से अधिक संख्या बेटियों की है।

इस अवसर पर कुमाऊं आयुक्त राजीव रौतेला, उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. एससी पंत, वित्त नियंत्रक आभा गर्खाल, उप कुलसचिव विलम मिश्रा, परीक्षा नियंत्रक प्रो. पीडी पंत, प्रो. आरसी मिश्रा, प्रो. गिरीजा पांडे, प्रो. दुर्गेश पंत, कुविवि के कुलपति प्रो. केएस राणा, संस्कृत विवि के कुलपति प्रो. देवी प्रसाद आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here