yaatri-bus

उत्तरकाशी : गुजरात के सूरत शहर से चारधाम यात्रा करने उत्तराखंड आये 30 तीर्थयात्रियों की जान आज उत्तराखंड के एक बस चालक ने अपनी जान गंवाकर बचा ली। प्राप्त जानकारी के मुताबिक मंगलवार को सूरत, गुजरात के 30 तीर्थयात्री गंगोत्रीधाम से दर्शन कर बस से वापस लौट रहे थे। भटवाड़ी के पास ऋषिकेश निवासी बस चालक भारत सिंह पंवार को चलती बस में अचानक हार्ट अटैक पड़ गया। जिससे उसकी ही मौत हो गई। परन्तु मरने से पहले चालक भारत सिंह पंवार ने साहस और सूझबूझ का परिचय देते हुए बस को किसी तरह रोकते हुए सड़क के किनारे खड़ा कर दिया। जिससे एक बड़ा हादसा होने से टल गया और बस में सवार 30 यात्रियों की जान बच गई। घटना मंगलवार शाम करीब साढ़े चार बजे की बताई जा रही है।

चालक की तबियत खराब देखकर बस परिचालक ने भटवाड़ी के प्रधान संजीव नौटियाल व विरेंद्र नौटियाल के निजी वाहन से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार के लिये पंहुचाया जहां डाक्टरों से उसे मृत घोषित कर दिया। बस में चारधाम यात्रा पर आये गुजरात के 30 यात्री सवार थे। बस चालक जहां इस दुनिया को सदैव के लिये छोड़कर चला गया है। वहीं उसे 30 यात्रियों की जिदंगी बचा दी है। जिससे चालक की इस बहादुरी और सूझ-बूझ को यात्रियों के साथ ही आम लोग सदैव याद रखेंगे। चिकित्सकों के अनुसार चालक की मौत हार्टअटैक से हुई है।

यह भी पढ़ें:

सामाजिक संगठनों द्वारा आग से बेघर हुए 54 पीड़ित परिवारों को दी गई राहत सामग्री 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here