rupendra chandel murder case

ग्रेटर नोएडा : बिसरख थाना क्षेत्र में बीते 28 अप्रैल को हुई सेल्स मेनेजर रूपेंद्र सिंह चंदेल हत्याकांड का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस के अनुसार अवैध संबंधों में रोड़ा बनने पर पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर पति को रास्ते से हटा दिया। पत्नी के कहने पर प्रेमी ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर रुपेन्द्र की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने महिला के प्रेमी व उसके दो साथियों को गिरफ्तार किया है। जबकि आरोपी पत्नी फरार है। अभियुक्तों के कब्जे से हत्या में प्रयुक्त तमंचा बरामद हुआ है। आरोपी प्रेमी मृतक का रिश्तेदार है। मृतक की मौसेरी बहन की शादी एक माह पहले ही उससे हुई थी।

बतादें कि बिसरख कोतवाली क्षेत्र में गौर सिटी के समीप सर्विस रोड पर बीते 28 अप्रैल को फोर्ड फिगो कार में एक व्यक्ति का शव बरामद हुआ था। मृतक की पहचान रूपेंद्र सिंह चंदेल निवासी गैलेक्सी नार्थ एवेन्यू गौर सिटी के रूप में हुई थी। रूपेंद्र सिंह चंदेल एक निजी कम्पनी में सेल्स मेनेजर थे। इस मामले में सोसायटी में ही रहने वाले मृतक के दोस्त प्रशांत कुमार ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। प्रथम दृष्टया लूटपाट के बाद हत्या की आशंका व्यक्त की गई थी। रूपेंद्र सिंह चंदेल ज्वैलरी खरीदने के लिए घर से निकले थे।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि मामले की जांच पड़ताल करने पर फोन कॉल डिटेल व अन्य माध्यम से महत्वपूर्ण सुराग मिले। जांच में मिले साक्ष्यों के आधार पर मृतक रूपेंद्र सिंह चंदेल की पत्नी अमृता चंदेल की भी संलिप्ता पाई गई। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए ओमवीर सिंह निवासी गैलेक्सी नार्थ एवेन्यू गौर सिटी, सुमित कुमार मूल निवासी हापुड़ हाल निवासी हैबतपुर बिसरख व भूले निवासी बुलंदशहर को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि मृतक रूपेंद्र सिंह चंदेल की पत्नी अमृता चंदेल के साथ अभियुक्त ओमवीर के अवैध सम्बंध हैं। अमृता चंदेल तलाक चाहती थी, लेकिन रूपेंद्र तलाक नहीं दे रहा था। इसके बाद अमृता ने अपने प्रेमी ओमवीर के साथ मिलकर पति को रास्ते से हटाने की योजना बनाई।

इस काम को अंजाम देने के लिए महिला ने तीन लाख रूपये का भी लालच दिया था। योजना के तहत बीते 28 अप्रैल को अभियुक्त ओमवीर ने सोसायटी के समीप सर्विस रोड पर रूपेंद्र सिंह चंदेल को रोका और उसकी गाड़ी में सवार हो गया। साथ में ओमवीर के दो साथी सुमित कुमार व भूले भी थे। रूपेंद्र सिंह चंदेल ने ओमवीर के कहने पर गाड़ी रोक थी, दरअसल रूपेंद्र सिंह चंदेल की मौसेरी बहन ओमवीर को ब्याही है। एक माह पहले ही शादी हुई थी। योजना के तहत रास्ते में सर्विस रोड पुराना हैबतपुर गौर सिटी के सामने भूले ने चलती गाड़ी में रूपेंद्र सिंह चंदेल के सिर में गोली मारकर हत्या कर दी। शव को गाड़ी में छोड़कर तीनों फरार हो गए। एसएसपी ने बताया कि हत्यारोपी पत्नी की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here