noida-international-airpot

ग्रेटर नोएडा: ग्रेटर नोएडा के जेवर में बनने वाले नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण के लिए बिड जारी होने से पूर्व विदेशी कंपनियों ने रुचि दिखाना शुरू कर दिया है। बृहस्पतिवार को यूके एयरपोर्ट मिशन टू इंडिया का एक प्रतिनिधिमंडल बिड में शामिल होने के लिए यमुना एक्सप्रेसवे प्राधिकरण के सीईओ डा. अरुणवीर सिंह से मिला। प्रतिनिधिमंडल में एयरपोर्ट निर्माण से संबंधित करीब 18 कंपनियों के अधिकारी शामिल थे। मिशन लीडर मैथ्यू बटर्स, एड्रिअन टॉड ए आई क्यू, रुआइरी मार्टिन एटकिन्स, पीटर मुर्राय बेचटेल, सपना कुमार चैपमैन टेलर, सुसान क्रेन सीएचएस, सोफिया अरराइज फोस्टर, टीम होज गेट, धमेंद्र नाई गेटिक शामिल थे।

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (NIAL) के सीईओ डा. अरुणवीर सिंह ने पॉवर प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रतिनिधिमंडल को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के संबंध में तकनीकी और सामान्य पहलुओं को विस्तार से बताया। सीईओ ने बताया कि जेवर एयरपोर्ट 1334 हेक्टेयर जमीन पर बनेगा। जिसके अधिग्रहण की कार्रवाई की जा रही है। एयरपोर्ट के डेवलपर के चयन के लिए बिड डाक्यूमेंट और एग्रीमेंट बनाया जा चुका है। जिसका परीक्षण हो रहा है। सीईओ ने एयरपोर्ट से होने वाले विकास व एविएशन फील्ड के उद्योगों की स्थापना के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।

प्रतिनिधिमंडल ने कागरे, एमआरओ, एयर ट्रैफिक, बिड़ की तिथि तथा अन्य जानकारी हासिल की। यह प्रतिनिधिमंडल बिट्रिश दूतावास के माध्यम से भारत में आया है। प्रतिनिधिमंडल दो नवम्बर तक भारत में रहेगा। प्रतिनिधिमंडल में शामिल कंपनियां एयरपोर्ट के डेवलपर के रूप में बिड डाल सकती हैं। बैठक में ब्रिटिश हाई कमिश्नर के अधिकारी मुकुल वर्मा, जितेंद्र जैन व जेवर एयरपोर्ट के नोडल अधिकारी शैलेंद्र भाटिया भी मौजूद थे। एयरपोर्ट परियोजना का शिलान्यास दिसंबर या जनवरी में होने की उम्मीद जताई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here