jewar-airport-land-occupied

ग्रेटर नोएडा: नोएडा ग्रीन फील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर के लिए जिला प्रशासन ने जमीन पर कब्जा लेना शुरू कर दिया है। मंगलवार को जिलाधिकारी बीएन सिंह व यमुना एक्सप्रेसवे प्राधिकरण के ओएसडी शैलेंद्र भाटिया ने गांव रन्हेरा में करीब 80 हेक्टेयर भूमि पर कब्जा प्राप्त कर नागरिक उडडयन विभाग उप्र शासन का नाम दर्ज कर दिया गया है। एयरपोर्ट के लिए जिला प्रशासन को छह गांवों के किसानों से 1238 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण करना है। अभी तक जिला प्रशासन 718.99 हेक्टेयर भूमि का 1765.41 करोड़ रुपये का मुआवजा वितरित कर चुका है। शेष किसानों को प्रतिकर वितरित किया जा रहा है।

जिला प्रशासन व यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण के अधिकारियों ने टीम बनाकर जिन किसानों ने जमीन का मुआवजा ले लिया है, उनकी जमीन पर मंगलवार से कब्जा लेना शुरू कर दिया है। मंगलवार को जिलाधिकारी बीएन सिंह व यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण के ओएसडी शैलेंद्र भाटिया तहसीलदार व अन्य अधिकारियों के साथ गांव रन्हेरा पहुंचे। जहां पर उन्हें जन सुविधा केंद्र पर सभी किसानों को एकत्र किया और वहां से मौके पर जाकर जमीन पर कब्जा किया। प्राधिकरण व प्रशासन ने कब्जा प्राप्त जमीन पर चेतावनी बोर्ड भी लगवाये। साथ ही पिलर लगवाकर तार फेंसिंग का भी काम शुरू कर दिया गया है। वैधानिक चेतावनी बोर्ड पर स्पष्ट लिखा है कि यह भूमि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर हेतु अधिग्रहण कर नागरिक उडडयन विभाग उप्र शासन के नाम कब्जा प्राप्त है। इस भूमि पर किसी प्रकार का अतिक्रमण दंडनीय अपराध है।

यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण के सीईओ डा. अरुणवीर सिंह ने बताया कि मुआवजा वितरण के बाद जमीन पर कब्जा हासिल करने के लिए अधिकारियों की चार टीमें बनायी गयी हैं। जो मौके पर जाकर जमीन पर कब्जा प्राप्त कर पिलर आदि लगायेगी। यह प्रक्रिया निरंतर जारी रहेगी। एयरपोर्ट की जमीन पर अवैध निर्माण करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उल्लेखनीय है कि एयरपोर्ट के कंशेसनायर के चयन के लिए ग्लोबल ई टेंडर जारी हो चुका है। 30 अक्टूबर तक आवेदन किया जा सकता है। टेक्निकल बिड 6 नवम्बर तथा फायनेसिल बिड 29 नवम्बर को खोली जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here