gniot-greno

ग्रेटर नॉएडा: नॉलेज पार्क स्थित जीएनआईओटी कॉलेज के इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग (ई.सी.) विभाग ने एकेटीयू, लखनऊ के सौजन्य से ऑप्टिकल कम्युनिकेशन और नेटवर्कस पर गुरूवार से 5 दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम का आयोजन किया। इसमें संस्थान के ईसी विभाग सहित विभिन्न अन्य इंजीनियरिंग कॉलेजों के लगभग 50 शिक्षकों और रिसर्च स्कॉलर्स ने भाग लिया।

कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि इलीट पावरटेक लिमिटिड के सीईओ एवं निदेशक सुनील ईश्पुनियानी, संस्थान के निदेशक डॉ. रोहित गर्ग, एमबीए कालेज की निदेशिका डॉ. सविता मोहन, फार्मेसी कालेज के निदेशक डॉ. एस. भट्टाचार्या, (ईसी) विभाग की विभागाध्यक्षा डॉ. शैली गर्ग और अन्य विभागों के विभागाध्यक्ष डॉ आरके तेवतिआ, डॉ बीएस चैहान, डॉ. राजदेव तिवारी एवं प्रोफेसर एसपी सैनी ने सरस्वती वंदना व दीप प्रजवलित कर किया।gniot-greno

फाइबर ऑप्टिकल कम्युनिकेशन एक उभरती हुई तकनीक है जिसमें व्यापक बैंडविड्थ, तीव्र, विश्वसनीय और सुरक्षित डेटा ट्रांसमिशन प्रदान करने की क्षमता हैं। कार्यक्रम का मुख्य उद्देशय, परियोजना निष्पादन और विभिन्न शोध उन्मुख हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर उपकरणों के प्रदर्शन पर अनुभव प्रदान करना है।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सुनील ईश्पुनियानी ने कहा कि ऑप्टिकल फाइबर आजकल डिजिटल दुनिया का एक अभिन्न अंग बन गया है। दूरसंचार और डाटा ट्रांसफर मार्केट में अगली पीढ़ी की प्रगति से दुनिया भर में ऑप्टिकल फाइबर बाजार को बढ़ावा मिलेगा। ऑप्टिकल फाइबर लंबी दूरी के संचार और डेटा हस्तांतरण के लिए प्रयोग किया जाता है। वर्तमान में ऑप्टिकल फाइबर क्षेत्र बहुत ही आगे बढ़ रहा है और आने वाले समय में तीव्र गति से बढ़ेगा।

कार्यक्रम के प्रवक्ता, केआईईटी कॉलेज (गाजियाबाद) के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. प्रवीन कौशिक ने कहा कि ऑप्टिकल फाइबर आने वाले समय में हमे 5 जी टेक्नोलॉजी के लिए वरदान साबित होगा। उन्होंने शिक्षकों को रेडियो ओवर फाइबर की भी जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन करते हुए डॉ. शैली गर्ग ने कहा कि लम्बी दूरी में ध्वनि की गति की तुलना में प्रकाश की गति ज्यादा तेज होती है, इसी से ऑप्टिकल फाइबर संचार की शुरुआत हुई और भविष्य में यह तकनीक पूरी दुनिया के सभी क्षेत्रों पर राज करेगी।

निदेशक डॉ. रोहित गर्ग ने कहा कि यह संस्थान का सौभाग्य है कि मात्र डेढ़ वर्ष के भीतर यह आठवां फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम आयोजित किया गया है। उन्होंने कहा कि यदि हम छात्रों को लाभान्वित करना चाहते हैं तो हमें अपने शिक्षकों के लिए ऐसे फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम समय – समय पर आयोजित करवाने चाहियें। उन्होंने ए.के.टी.यू के कुलपति डॉ. विनय कुमार पाठक का आभार व्यक्त किया जिनके सौजन्य से यह कार्यक्रम आयोजित हो सका। साथ ही उन्होंने कार्यक्रम के सफल आयोजन व संचालन के लिए डॉ. शैली गर्ग को बधाई दी। इस अवसर पर संस्थान के अन्य फैक्लटी व स्टाफ मैंम्बर्स भी उपस्थित रहे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here