नोएडा, ग्रेटर नोएडा की सड़कों पर स्मार्ट स्ट्रीट लाइट प्रोजेक्ट के तहत टाटा कंपनी द्वारा एलईडी लाइट्स लगाने के प्रजेक्ट का शुक्रवार को महामाया फ्लाईओवर पर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ आलोक टंडन द्वारा उद्घाटन किया गया। गौरतलब है कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा की सड़कों पर स्मार्ट स्ट्रीट लाइट प्रोजेक्ट के तहत 74000 एलईडी लाइट्स लगाई जानी हैं। इसी के तहत पहले फेज में महामाया फ्लाईओवर से ग्रेटर नोएडा तक लगभग 3 किलोमीटर के रास्ते में दोनों तरफ की सड़कों की स्ट्रीट लाइट के बल्ब को हटाकर उनकी जहग 500 LED लाइट लगाई गई हैं। इन एलईडी लाइट्स के लगने से बिजली का बिल काफी हद तक कम हो आएगा। साथ ही सड़कों पर साफ चमकदार रोशनी भी मिलेगी। फिलहाल पहले चरण में ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर एलईडी लगाने का काम पूरा किया जा चुका है। और यह देश का पहला एक्सप्रेस-वे बन चुका है जो रात में एलईडी लाइट की दूधिया रोशनी से जगमगा रहा है।

60 प्रतिशत बचेगी बिजली, लगभग 140 करोड़ रुपए की होगी बचत

अधिकारियों ने बताया कि एक साल में करीब 72 करोड़ रुपए का बिजली के बिल के रूप में दिए जाते थे। 10 साल में करीब 506 करोड़ रुपए दिए जा चुके थे। ऐसे में एलईडी लाइटों के इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से करीब 56 प्रतिशत एनर्जी में कमी आएगी। हालांकि यह कमी 60 प्रतिशत तक पहुंच सकती है। ऐसे में सात साल में कुल 27 करोड़ रुपए सिर्फ एनर्जी के रूप में बचाया जा सकेगा। टाटा कंपनी के साथ हुए समझौते पत्र के तहत शहर की स्ट्रीट लाइटों को एलईडी में तब्दील करने का काम साल भर में पूरा कर लिया जाएगा। कंपनी सात साल तक मेन्टीनेंस व संचालन का काम करेगी। इसमें लाइट खराब होने से लेकर उसकी रख-रखाव का काम करेगी। इससे प्राधिकरण को सात साल में लगभग 140 करोड़ रुपए की बचत होगी। एलईडी लगाने का काम एक साल में पूरा कर लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here