यमुना अथॉरिटी में हुए 126 करोड़ के जमीन घोटाले में शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा की कासना थाना पुलिस ने मुख्य आरोपी पूर्व सीईओ एवं रिटायर्ड आईएएस अधिकारी पीसी गुप्ता को मध्यप्रदेश के दतिया जिले से गिरफ्तार कर लिया है। पीसी गुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने मास्टर प्लान से हटकर, नियमों को तक पर रखते हए मथुरा के आस पास के 7 गाँवों की जमीन फर्जी तरीके से सस्ते दामों में अपने रिश्तेदारों के नाम खरीदवा ली थी और फिर इसी जमीन को ऊँची कीमत पर अथॉरिटी को बेच दिया था। इसी के तहत यमुना अथॉरिटी के पूर्व सीईओ पीसी गुप्ता एवं उनके रिश्तेदारों सहित 21 लोगों के खिलाफ 2 जून को कासना थाने में 126 करोड़ रुपये के फर्जीवाड़े की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी। पुलिस की टीमों ने गाजियाबाद, मेरठ, लखनऊ, मथुरा, बुलंदशहर, अलीगढ़ और दिल्ली सहित कई जिलों में आरोपियों के ठिकानों पर दबिश दी, लेकिन किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई। परन्तु शुक्रवार को गौतमबुद्ध नगर के एसएसपी डॉ अजय पाल शर्मा के आदेश पर ग्रेटर नोएडा की कासना पुलिस ने मध्यप्रदेश के दतिया जिले के एक मंदिर से आरोपी पीसी गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया। मेरठ कमिश्नर प्रभात कुमार ने पी सी गुप्ता की गिरफ्तारी का श्रेय गौतमबुद्ध नगर के एसएसपी अजयपाल शर्मा व उनकी टीम को दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here